सूर्य नमस्कार के फायदे | Surya Namaskar ke fayde - Hindi Tricks

2020-12-20

सूर्य नमस्कार के फायदे | Surya Namaskar ke fayde

 

सूर्य नमस्कार विधि और लाभ
सूर्य नमस्कार के 12 आसन के नाम

सूर्य नमस्कार: प्रतीकात्मक रूप से, सूर्य को हमारी ऊर्जा का स्रोत माना जाता है। भारत के प्राचीन ऋषियों ने कहा कि शरीर के विभिन्न भागों में विभिन्न देवताओं का शासन है। सूर्य नमस्कार के कई फायदे हैं।


सूर्य नमस्कार करने से क्या-क्या फायदे होते हैं।

  1. सूर्य नमस्कार अतिरिक्त कैलोरी को कम करने के लिए एक प्रभावी उपकरण है। ये पेट की चर्बी कम करने में सहायक हैं। इस मॉड्यूल में सभी योगासन पूरे शरीर के उचित खिंचाव और घूर्णन की अनुमति देते हैं, जो वजन घटाने के लिए बहुत फायदेमंद है। यह उन लोगों के लिए एक बेहतरीन व्यायाम है जो अपना वजन कम करना चाहते हैं।
  2. इस अभ्यास में, शरीर और पेट पर खिंचाव महसूस होता है। यह आपके पाचन तंत्र को मालिश और श्रम के लिए कुशल बनाता है। सूर्य नमस्कार के नियमित अभ्यास से पेट के कई रोग और विकार दूर होते हैं।
  3. सूर्य नमस्कार करने से किडनी को अच्छी मालिश मिलती है। यह शरीर में रक्त परिसंचरण के प्रवाह को गति देता है। ऐसा नियमित रूप से करने से किडनी की बीमारी नहीं होती है।
  4. सूर्य नमस्कार करने से हृदय गति बढ़ती है, जो संचार प्रणाली के लिए भी आवश्यक है। यह शरीर से अपशिष्ट को हटाने के लिए अच्छा है और एक कुशल मानव हृदय सुनिश्चित करता है। यह शरीर में सभी कोशिकाओं को ताजा ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की आपूर्ति करता है, जो स्वस्थ शरीर जीवन शक्ति का समर्थन करता है। यह बीमारी से लड़ने में मदद करता है।
  5. सूर्य नमस्कार में कई योग बनते हैं जो सिर क्षेत्र में रक्त परिसंचरण को बढ़ाते हैं। Parvatasana और Padharana योग सिर क्षेत्र में रक्त की आपूर्ति को प्रोत्साहित करते हैं। इस प्रकार, यह बालों के झड़ने को रोकने में मदद करता है।
  6. सूर्य नमस्कार फेफड़ों और श्वसन प्रणाली के इष्टतम उपयोग में मदद करता है। यह प्रणाली रोगाणुओं और कई बीमारियों के गठन को रोकती है। ऐसा करने में, फेफड़ों को अशुद्ध वायु से पूरी तरह से खाली कर दिया जाता है और मस्तिष्क को ताजा ऑक्सीजन प्राप्त होता है, जिससे व्यक्ति ऊर्जा से भरा होता है।
  7. स्वस्थ, चमकती त्वचा के साथ स्पष्ट रंगत हासिल करने के लिए सूर्य नमस्कार एक प्रभावी तरीका है। व्यायाम के परिणाम तब बढ़ जाते हैं जब शरीर के अंदर से पसीना निकलता है। यह ताज़ा, स्वस्थ त्वचा पाने का एक शानदार तरीका है।
  8. सूर्य नमस्कार रीढ़, गर्दन, कंधे, हाथ, पैर आदि की मांसपेशियों को टोन करता है, जो शरीर में लचीलेपन को बढ़ावा देता है। सूर्य नमस्कार आसन मांसपेशियों के खिंचाव के साथ हमारे शरीर को बहुत लचीला बनाते हैं।
  9. सूरज की किरणें विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत हैं। वे हमारी हड्डियों को मजबूत करने और हमारी दृष्टि को स्पष्ट करने में मदद करते हैं।
  10. सूर्य नमस्कार विभिन्न अंतःस्रावी ग्रंथियों से मेल खाता है, जो ग्रंथियों में किसी भी अनियमितता को दूर करने में मदद करता है। यह रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है।


Comment